Explore Chemistry Now

chemexplorers

the equilibrium constant for the reaction

the equilibrium constant for the reaction.प्रतिक्रिया का संतुलन स्थिरांक एक रासायनिक प्रतिक्रिया में प्रतिक्रियाशील पदार्थों और उत्पादों की सांद्रता के बीच संतुलन की स्थिति को परिभाषित करता है। यह स्थिरांक उस अनुपात को दर्शाता है जिसमें प्रतिक्रिया के सभी पदार्थ स्थिर अवस्था में होते हैं। संतुलन स्थिरांक प्रतिक्रिया की दिशा, संतुलन बिंदु, और अंतिम सांद्रताओं का माप प्रदान करता है, जो रासायनिक प्रक्रिया की गहराई से समझने में मदद करता है।

the equilibrium constant for the reaction

रासायनिक अभिक्रिया के लिए संतुलन स्थिरांक (Equilibrium Constant) निम्नलिखित प्रकार से परिभाषित किया जा सकता है:

रासायनिक समीकरण:

aA+bBcC+dDaA + bB \rightleftharpoons cC + dD

 

जहाँ

a,b,c,a, b, c,

और

dd

अभिक्रियकों और उत्पादों के स्टोइकियोमेट्रिक गुणांक हैं, और

A,B,C,A, B, C,

और

DD

रासायनिक प्रजातियाँ हैं।

संतुलन स्थिरांक

KeqK_{eq}

को निम्नलिखित समीकरण से व्यक्त किया जाता है:

Keq=[C]c[D]d[A]a[B]bK_{eq} = \frac{{[C]^c [D]^d}}{{[A]^a [B]^b}}

जहाँ

[A][A]

,

[B][B]

,

[C][C]

, और

[D][D]

संतुलन अवस्था में अभिक्रियकों और उत्पादों की सांद्रता हैं।

संतुलन स्थिरांक यह दर्शाता है कि किसी रासायनिक अभिक्रिया के संतुलन की स्थिति में उत्पादों की सांद्रता और अभिक्रियकों की सांद्रता का अनुपात क्या है।

यहां अधिक विवरण और उदाहरण के साथ प्रस्तुत किया गया है:

संतुलन स्थिरांक (Equilibrium Constant) क्या है?

संतुलन स्थिरांक

KeqK_{eq}

एक संख्या है जो किसी रासायनिक अभिक्रिया की संतुलन अवस्था में उत्पादों और अभिक्रियकों की सांद्रता के अनुपात को दर्शाती है। यह स्थिरांक इस बात को दर्शाता है कि अभिक्रिया कितनी आगे बढ़ी है।

उदाहरण 1: अमोनिया का निर्माण (Haber Process)

रासायनिक समीकरण:

N2(g)+3H2(g)2NH3(g)N_2 (g) + 3H_2 (g) \rightleftharpoons 2NH_3 (g)

 

इस अभिक्रिया के लिए संतुलन स्थिरांक

KeqK_{eq}

इस प्रकार होगा:

Keq=[NH3]2[N2][H2]3K_{eq} = \frac{{[NH_3]^2}}{{[N_2][H_2]^3}}

यहाँ:


  • [NH3][NH_3]
     

    = अमोनिया की सांद्रता


  • [N2][N_2]
     

    = नाइट्रोजन की सांद्रता


  • [H2][H_2]
     

    = हाइड्रोजन की सांद्रता

उदाहरण 2: एसिटिक एसिड का आयनीकरण

रासायनिक समीकरण:

CH3COOH(aq)CH3COO(aq)+H+(aq)CH_3COOH (aq) \rightleftharpoons CH_3COO^- (aq) + H^+ (aq)

 

इस अभिक्रिया के लिए संतुलन स्थिरांक

KeqK_{eq}

इस प्रकार होगा:

Keq=[CH3COO][H+][CH3COOH]K_{eq} = \frac{{[CH_3COO^-][H^+]}}{{[CH_3COOH]}}

यहाँ:


  • [CH3COO][CH_3COO^-]
     

    = एसिटेट आयन की सांद्रता


  • [H+][H^+]
     

    = हाइड्रोजन आयन की सांद्रता


  • [CH3COOH][CH_3COOH]
     

    = एसिटिक एसिड की सांद्रता

महत्वपूर्ण बिंदु:

  1. संतुलन स्थिरांक का मान:
    • यदि
      KeqK_{eq}
       

      बड़ा है (> 1), तो इसका मतलब है कि संतुलन अवस्था में उत्पादों की सांद्रता अधिक होती है।

    • यदि
      KeqK_{eq}
       

      छोटा है (< 1), तो इसका मतलब है कि संतुलन अवस्था में अभिक्रियकों की सांद्रता अधिक होती है।

  2. तापमान का प्रभाव:
    • संतुलन स्थिरांक का मान तापमान पर निर्भर करता है। तापमान में परिवर्तन से
      KeqK_{eq}
       

      का मान भी बदल सकता है।

  3. एकल संतुलन:

    • KeqK_{eq}
       

      एकल संतुलन अवस्था का स्थिरांक है। यह अभिक्रिया की दिशा में संतुलन की स्थिति का प्रतिनिधित्व करता है।

निष्कर्ष

संतुलन स्थिरांक किसी रासायनिक अभिक्रिया की स्थिति को संख्यात्मक रूप में व्यक्त करने का एक महत्वपूर्ण साधन है। यह हमें यह बताता है कि किसी अभिक्रिया के संतुलन की स्थिति में उत्पादों और अभिक्रियकों की सांद्रता का अनुपात क्या है।

what do you mean by equilibrium constant

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top