Explore Chemistry Now

chemexplorers

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful.वाष्प आसवन 2024: जानें कौन से कार्बनिक यौगिक वाष्प आसवन द्वारा शुद्ध किए जा सकते हैं। अनीस का तेल, यूजीनॉल, ओरिगैनम तेल, और सिट्रोनेला तेल जैसे यौगिकों की शुद्धि की प्रक्रिया और इसके लाभ।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

उद्देश्य (Objective):-

प्रभाजी आसवन द्वारा एसीटोन और जल के मिश्रण से शुद्ध एसीटोन प्राप्त करना।

आवश्यक उपकरण और पदार्थ:-

प्रभाजी आसवन उपकरण, बर्नर, ग्राही, एसीटोन और जल का मिश्रण, तापमापी।

सिद्धांत (Principle):-

प्रभाजी आसवन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें दो या दो से अधिक द्रवों के मिश्रण को उनके विभिन्न उबाल बिंदुओं के आधार पर पृथक किया जाता है। इस प्रक्रिया का उपयोग तब किया जाता है जब मिश्रण में उपस्थित द्रवों के उबाल बिंदुओं में अंतर कम होता है (40°C से कम)।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

आसवन का सिद्धांत:

  1. वाष्पीकरण और संघनन: आसवन की प्रक्रिया में, मिश्रण को एक फ्लास्क में गर्म किया जाता है जिससे उसमें उपस्थित द्रव वाष्पित (evaporate) होते हैं। ये वाष्प एक कंडेन्सर (condenser) में प्रवेश करते हैं, जहां वे ठंडा होकर संघनित (condense) होते हैं और फिर एक संग्रहण पात्र (receiver) में इकट्ठे होते हैं।
  2. कम उबाल बिंदु वाला द्रव: मिश्रण में मौजूद द्रवों में जो द्रव सबसे पहले वाष्पित होता है, उसका उबाल बिंदु सबसे कम होता है। जैसे ही यह द्रव वाष्पित होता है और कंडेन्सर में संघनित होता है, इसे एक अलग ग्राही में संग्रहित किया जाता है।
  3. फ्रैक्शनल कॉलम: प्रभाजी आसवन में, एक फ्रैक्शनल कॉलम का उपयोग किया जाता है। यह कॉलम विभिन्न स्तरों पर तापमान को स्थिर रखने में मदद करता है, जिससे विभिन्न उबाल बिंदु वाले द्रव अलग-अलग स्तरों पर संघनित होते हैं और आसानी से पृथक किए जा सकते हैं।
  4. उच्च उबाल बिंदु वाला द्रव: जब कम उबाल बिंदु वाला द्रव पूरी तरह से वाष्पित और संग्रहित हो जाता है, तब उच्च उबाल बिंदु वाला द्रव वाष्पित होना शुरू होता है और इसे अगले संग्रहण पात्र में इकट्ठा किया जाता है।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

प्रभाजी आसवन में एसीटोन और जल का पृथक्करण:

  1. कम उबाल बिंदु: एसीटोन का उबाल बिंदु 56°C है, जो जल (पानी) से कम है।
  2. प्रक्रिया: जब मिश्रण को गर्म किया जाता है, तो एसीटोन सबसे पहले वाष्पित होता है और संघनित होकर ग्राही में संग्रहित होता है।
  3. पृथक्करण: जैसे ही एसीटोन वाष्पित होकर अलग हो जाता है, तापमान बढ़ाया जाता है और जल वाष्पित होकर संघनित होता है।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

विधि:-

  1. तैयारी: सबसे पहले प्रभाजी आसवन उपकरण को सेट करें। उपकरण में मिश्रण (एसीटोन और जल) डालें।
  2. तापमान सेट करें: तापमापी को फ्लास्क में डालें ताकि आप मिश्रण का तापमान माप सकें।
  3. हीटिंग: बर्नर को चालू करें और मिश्रण को गर्म करना शुरू करें। धीरे-धीरे तापमान बढ़ाएं।
  4. पहला संग्रहण: जब तापमान 56°C (एसीटोन का उबाल बिंदु) तक पहुँच जाए, तो एसीटोन वाष्पित होकर संघनित होना शुरू हो जाएगा। इस संघनित एसीटोन को ग्राही में संग्रहित करें।
  5. दूसरा संग्रहण: जैसे ही ग्राही में पर्याप्त मात्रा में एसीटोन संग्रहित हो जाए और तापमान बढ़ने लगे, ग्राही को हटा लें और दूसरा ग्राही लगाएं ताकि जल (पानी) को संग्रहित किया जा सके।
  6. ध्यान दें: प्रक्रिया के दौरान तापमान को नियंत्रित रखें और उपकरण के सभी जोड़ों को अच्छी तरह से सील रखें ताकि कोई वाष्प न निकल सके।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

परिणाम:-

56°C पर प्राप्त प्रभाज शुद्ध एसीटोन है। यह प्रक्रिया सफलतापूर्वक समाप्त होने पर आपको शुद्ध एसीटोन प्राप्त होगा, जिसे आप विश्लेषण के लिए उपयोग कर सकते हैं।

इस प्रकार, प्रभाजी आसवन द्वारा एसीटोन और जल के मिश्रण से शुद्ध एसीटोन प्राप्त किया जा सकता है।

the organic compound which can be purified by steam distillation 2024 useful

Chemistry for NEET

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top